Shanshank Shaure
Posted in: Success Stories

5000 हजार रूपये से शुरुआत से 5 करोड़ तक का सफर

दोस्तों आप लोगों ने बहुत सारे विदेशी सफल लोगों की कहानियां बहुत सुनी होंगी, जैसे कि मार्क ज़ुकेरबर्ग , बिल गेट्स, स्टीव जॉब्स आदि। इन्होंने अपनी जिंदगी में एक अलग ही मुकाम हासिल किया और समाज में खूब कामयाब हुए । ये सभी कॉलेज ड्राप आउट थे। पर आज हम आपको एक ऐसे भारतीय की कहानी सुनाने जा रहे हैं, जो कॉलेज ड्राप आउट था और आज एक सफल उद्यमी है। जिसने अपने शौक को ही अपनी जिंदगी का मकसद बना लिया और उसी को अपना प्रोफेशन बना लिया ।

ये शख्स हैं मध्य प्रदेश के शंशाक शौरे । उन्हें बचपन से ही कंप्यूटर चलाने का बहुत शौक था और इसीलिए उनका रुझान बचपन से ही कंप्यूटर में हो गया। शंशाक शौरे एक मिडिल क्लास फॅमिली से तालुक रखते थे । और जब वे 13 साल के हुए तो उनका कंप्यूटर के प्रीति लगाव धीरे धीरे बढ़ता ही चला गया। और बाद में उन्हें कंप्यूटर कोडिंग का चस्का भी लग गया साथ ही साथ हैकिंग में उनकी रूचि बढ़ती ही जा रही थी। कंप्यूटर और हैकिंग में जब शशांक पूरा पूरा दिन लगे रहते तो उनके माता पिता को चिंता होने लगी और वे काफी परेशान हो गए। उन्होंने शशांक को कंप्यूटर से दूर करने ही भरसकर प्रयास किया, पर वो सफल न हो पाए और उन्होंने कंप्यूटर को ही अपना जीवनचर्या में शामिल कर लिया।

जल्द ही उन्होंने क्रैकपाल डॉट कॉम नाम की वेबसाइट में काम करना शुरू कर दिया और उन्हें वहां एक ईमेल अकाउंट को हैक करने के 50 डॉलर मिलते थे । उसके बाद उन्होंने इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन ले लिया पर शंशाक का पढ़ाई में मन नहीं लगा और जल्द ही उन्होंने इंजीनियरिंग कॉलेज छोड़ दिया।

कॉलेज छोड़ने के बाद इंदौर के एक फेमस सॉफ्टवेयर कंपनी में जॉब करने लगे । उन्हें वहां वेब सिक्योरिटी कंसलटेंट की नौकरी मिल गयी। और इसी नौकरी में उन्हें 3 बार प्रमोशन भी मिला। धीरे- धीरे शंशाक इंदौर में फेमस होने लगे। इंदौर पुलिस ने भी शंशाक की सेवाओं का लाभ उठाया जब उन्हें शंशाक की प्रतिभा का पता पड़ा। कुछ समय तक दूसरे लोगों के लिए काम करते करते शंशांक को समझ आया की अब अपना ही कुछ काम स्टार्ट करना चाहिए तो उन्हें एक खुद की कंपनी रजिस्टर्ड करा ली। और उन्हें अपनी खुद के एक हैकिंग कंपनी की स्थापना पर डाली।

शशांक ने साल 2009 में इंडिया इंफोटेक नाम की कंपनी रजिस्टर्ड की । हालांकि पूँजी के आभाव में , उन्हें बहुत मुश्किल का सामना करना पड़ा। पर बाद में उनके एक आईडिया ने उसका भी हल निकाल लिया । और उन्होंने अपने सेवाओं को उत्पाद की तरह बेचना स्टार्ट कर कर दिया । और इस नए आईडिया के साथ उन्हें एक नए सिरे से काम करना शुरू किया । और उनका ये स्टार्टअप धीरे धीरे इ- कॉमर्स वेबसाइट डेवलपमेंट में बदल गया। और बाद में वो दुनिया भर के क्लाइंट को अपनी ऐस इ औ की सर्विस देने लगे।

साल 2014 में शंशाक केवल कुछ ही प्रोजेक्ट पर काम कर रहे थे। पर साल 2020 आते आते उन्होंने 5000 रूपये से 5 करोड़ तक का सफर तय कर लिया था ।

ऐसी सफलता हासिल करना हर किसी से संभव नहीं है पर मेहनत और सच्ची लगन से लगा जाए तो हर मुश्किल से पार पाकर हम समाज में एक अच्छा मुकाम हासिल कर सकते हैं। ये थे शंशाक शौरे , जो कि एक कॉलेज ड्राप आउट स्टूडेंट थे और नाम मात्र कि पूँजी। पर अपनी सच्ची लगन, मेहनत और दिमाग के बल पर वो इस मुकाम पर पहुंचे हैं।

आप कल्पना भी कर सकते हैं किसी शख्स के पास न तो कोई डिग्री है और न ही कोई दूसरी जॉब का विकल्प पर अगर हिम्मत है तो आप कुछ भी कर सकते हैं। तो ये थे शंशाक शौरे के कहानी । अगर आपको ये कहानी अच्छी लगी हो तो कृपया कमेंट एंड शेयर करे।

हम आपके लिए खूब प्रेरक कहानियां और बिज़नेस आइडियाज लाते हैं अगर आप कोई इम्प्रूवमेंट के लिए सुझाव देना चाहते तो प्लीज आप कमेंट करके सुझाव दे सकते हैं अगर आपको स्टोरी और बिज़नेस आइडियाज पसंद आते हैं तो आशा है कि आप कमेंट और शेयर करेंगे।

147 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *